टूटा हुआ दिल करता है मजबूर अपना फ़साना लिखने को , वरना किसे ख़ुशी मिलती है अपना दर्द लिख